Jiskee lathee usekee brain | Panchatantra short Hindi kids stories

Do you want a short Pancha tantra story for kids? then in this article I will share a beautiful Hindi short story named Jiskee lathee usekee brain with PDF.

Related:- Great Hindi Pancha Tantra Story Collection.

We have a lot of short Hindi and English stories for kids. You can also find beautiful #quotes and #poetry

जिसकी लाठी उसकी भैंस(Jiskee lathee usekee brain)

Jiskee lathee usekee brain, Panchatantra short hindi kids stories

एक गांव में नत्थू नाम का एक वाला था। नत्थू अपनी भैंसों से बहुत प्यार करता था। और भेंसो के दूध को गांव गांव में घूम कर बेचता था। गांव वाले नत्थू से बहुत खुश रहते क्योंकि वह बहुत सरल और निर्मल था। बाकी दूध वालों की तरह और दूध में पानी नहीं मिलाता था। धीरे-धीरे नत्थू के ग्राहक बढ़ने लगे।

दिन की बात है, नत्थू अपना सारा दूध बेचकर घर लौट रहा था। उसी समय एक छोटे बच्चे ने नत्थू को पुकारा उसने कहा, “नत्थू काका नाथू काका दूध मिलेगा?” उस समय नत्थू के पास दूध खत्म हो गई थी। नत्थू ने बच्चे से कहा, “नहीं बेटा दूध खत्म हो गई है।” तभी नत्थू सोच में पड़ गया कि, “अब क्या करें आजकल दूध पूरा ही नहीं पड़ रहा है हमारा ग्राहक खाली हाथ लौट रहा है, यह बिल्कुल अच्छी बात नहीं है। हम एक काम करते हैं कल एक नई नवेली भैंस खरीद लाते हैं।”

और जैसा नत्थू ने सोचा वह भैंस खरीदने में मंडी पहुंचा। वहां पर एक आदमी ने उसे पूछा, “क्या हुआ नत्थू भैया, आपकी कोई भैंस बीमार है क्या? अभी ६ महीने पहले आप भैंस खरीदी थी, और आप आज वापस यहां? कोई दिक्कत है क्या?” नत्थू ने कहा, “नहीं भैया सभी भैंस अच्छी है, पर दूध की ग्राहक भर गई है, और दूध पूरा ही नहीं पड़ रहा है, जिसके वजह से एक भैंसिया ही बरहा लू।”

Jiskee lathee usekee brain, Panchatantra short hindi kids stories

भैंस विक्रेता ने कहा, “यह तो बढ़िया है नत्थू भैया, देखो आपको कौन सी भैंस पसंद आती है।” नत्थू भैंसों को बहुत अच्छे से दिखने लगा और उससे एक काली मोटी भैंस पसंद आई। उसने कहा, “वह काली वाली वैश्या उसका नाम क्या है?” भैंस विक्रेता ने कहा, “बड़ी तीखी नजर है आपकी, वह टुनटुन है सबसे ज्यादा दूध वही देती है।” उसके बाद नत्थू विक्रेता को पैसे देकर भैंस को खरीद के ले कर जाती है।

घर लौटते वक्त रास्ते में एक जंगल आती है। नत्थू टुनटुन को अपने साथ लेकर जंगल से चल रहा होता है, तब तभी एक अनजान व्यक्ति आकर नत्थू को कहते हैं, “यह दूधवाले क्यूं यहां पर?” नत्थू उसकी बात सुनकर कहती है कि, “तुम्हें कैसे पता चला कि मैं दूधवाले हूं?” तब अनजान व्यक्ति ने कहा, “अरे तुम दूध वाले नहीं होते तो इस भैंस को लेकर क्या अचार डालते?” नत्थू फिर से बोला, “ऐसे कैसे हम भैंस वाले भी तो हो सकते हैं?”

उस व्यक्ति ने कहा, “कपड़ों से तो व्यापारी नहीं लगता, लेकिन जो भी हो वह भैंस मुझे दे दो, वरना तुम्हारा सर फोड़ दूंगा। और मुझसे ज्यादा तेज ना बनो समझे!” नाथू डर गया और वह कुछ सोचने लगा। और फिर उस व्यक्ति ने कहा, “जल्दी करो नहीं तो।” नत्थू ने कहा, “ठीक है यह लो।” यह बोलकर भैंस को उसे दे दिया। उस चोर ने हंसने लगा और बोलने लगा, “अरे मूर्ख तुम इतने जल्दी में भेंस दे दिया? तुम तो बहुत डरपोक हो!” 

Jiskee lathee usekee brain, Panchatantra short hindi kids stories

नत्थू ने कहा, “अरे भैया सर फूटने के बाद देते तो बेवकूफ भी कहलाते।” चोर ने कहा, “ठीक है ठीक है अब भागो यहां से।” नत्थू फिर से कहा, “सुनो भैया मैंने तो अपनी भैंस तुम्हें दे दी, पर अब अगर मैं खाली हाथ घर गए ना हमारी लुगाई को बिल्कुल अच्छा नहीं लगेगा। आप अगर अब की लाठी मुझे दे दे तो हम भी खुश।”

उस आदमी सोचने लगा और फिर बोला, “तुम सच में मूर्ख हो।” यह कहकर उसने उसकी लाठी नत्थू को दे दिया। नत्थू लाठी झट से ले लेता है,औरव कहने लगती है, “मेरी भैंस मुझे लौटा दो वरना हम तुम्हारी चटनी बना देंगे।” उस आदमी को अपनी मूर्खता समझ आ गई। 

उसने डर के मारे भैंस लौटा दी। और उस आदमी ने नत्थू से कहा, “अब जब मैं तुम्हें तुम्हारी भैंस लौटा दे तो तुम मेरे लाठी भी मुझे लौटा दो।” नत्थू ने कहा, “कौन सी लाठी भागो यहां से, वरना तुम्हारा सर फोड़ देंगे।” यह सुनकर वह आदमी वहां से भाग जाता है। और नत्थू हंसते हंसते बोलने लगा जिसकी लाठी उसकी भैंस।

I think you like Above pancha tantra short hindi story, if yes please share to your friends. I think you like to see another great short hindi story.

For daily updates like us on Facebook.