Clever Bull || Panchatantra story in Hindi

In this, I will share with you a great Panchatantra story in Hindi named Clever bull with Pdf File. I hope you like our Panchatantra stories collection.

Related:-Best Pancha Tantra Stories collection You will Love.

Clever Bull A Great Pancha Tantra Story for Kids

panchatantra-story-in-hindi, clever bull

एक गांव में एक खेत था, जिसका मालिक था जयंती सिंह। जयंती सिंह के पास खेत जोतने के लिए दो बैल थे। लेकिन उनमें से एक बैल बूढ़ा हो गया था जिसका नाम था कल्लू। वह अब खेत जोत नहीं पाता था वह गिर जाता था। लेकिन कल्लू ने जयंती सिंह को बहुत मदद की थी।

एक दिन जयंती सिंह ने सोचा अब कल्लू बुरहा हो गई है, उसने मेरी बहुत मदद की है, अब मुझे उससे काम से आजाद कर देनी चाहिए। वह कल्लू के पास जाता है और उसे लेकर खेत की बाहर चलता है, कुछ देर में वह जंगल पहुंचते हैं। और जयंती सिंह कल्लू से कहती है, “कल्लू तुमने मेरी बहुत मदद की दोस्त, पर अब तुम बूढ़े हो गए हो और मैं तुमसे और काम नहीं करवाना चाहता। इसीलिए मैं तुम्हें आजाद करता हूं।”

जयंती के बातें सुनकर कल्लू थोड़ा भावुक हो जाता है और वह वापस जाना चाहता है। और फिर उसे लगता है शायद जयंती उसे और पाल नहीं सकता। कल्लू अब सोचने लगता है कि वह खुद का पालन खुद करेगा। कल्लू नया आश्रम ढूंढते जंगल मैं एक गुफा के पास आता है। इस गुफा के बाहर बॉस, बहुत सारी घास और एक तालाब भी था। कल्लू ने कहा यह जगह मेरे निवास के लिए एकदम ठीक है।

panchatantra-story-in-hindi, clever bull

कल्लू अपने नए घर में बहुत खुश था। उससे भरपेट खाना, पीने को पानी और सर छुपाने के लिए गुफा भी थी। पर एक दिन कल्लू देखता है कि एक शेर गुफा की तरफ बढ़ रहा है। यह देखकर कल्लू डर गया पर उसने संयम नहीं खोए। उसे एक युक्ति सूजी। कल्लू ने बहुत भयंकर आवाज निकाला और वह कहने लगा, “सुनो दोस्त आज हम भरपेट खाना खाए हैं, पर बाहर एक शेर दिखाई दे रही है, उसे हम आज शिकार करेंगे।”

शेर कल्लू की बातें सुनकर डर जाता है, वह सोचने लगता है की गुफा के अंदर एक भयानक जानवर है। और वह तुरंत उल्टा भागने लगता है। मूर्ख शेर कल्लू को एक भयंकर जानवर समझ ली थी। एक सियाल शेर को भागते हुए देखकर उसके पास जाता है और कहता है, “राजा जी क्या हुआ आप डर क्यों रहे हो?” शेर ने रुक के कहा, “एक भयंकर जानवर है। जो शेर का शिकार करता है। वह बहुत ही बड़ा है, मोटा है और उसके दो लंबे-लंबे सिंग भी है।”

सीहाल ने हंसने लगा और बोलने लगा, “भयंकर वह जानवर नहीं है, आप उसका शिकार नहीं बल्कि वह आप का शिकार बन सकता है।” शेर ने कहा, “नहीं नहीं वह बहुत भयंकर है। मैं उसके पास नहीं जाऊंगा।” सियाल ने कहा, “आप चलिए मेरे साथ।” शेर ने कहा, “अगर वह मुझे शिकार करने आएगा तो तुम वहां से मुझे छोड़कर चले जाओगे। और मैं मर जाऊंगा नहीं नहीं मैं नहीं जाऊंगी।”

panchatantra-story-in-hindi, clever bull

सियाल ने कहा, “ठीक है राजा जी, आप अपने पूछ के साथ मेरे पूंछ बांध लीजिए। अगर वह आप का शिकार करेगा तो आप उसके सामने मुझे फेंक दीजिएगा। और आप खुद भाग जाना।” इसके बाद शेर ने उसके पूछ के साथ सियाल की पूंछ बांध दिया। उसके बाद भी शेर को बहुत डर लग रहा था। फिर भी वोह सियाल के जबरदस्ती से उसके साथ निकल पड़ा।

कल्लू शियाल को फिर के साथ देख कर सब समझ गया। लेकिन वह घबराया नहीं। उसने दूसरे युक्ति लड़ाई। कल्लू ने चालाकी से कहा कि, “यार तुम्हें मैं २ शेर लाने के लिए कहा, था तुमने एक शेर लाया? इस तरह से मेरे पूरे परिवार का पेट कैसे भरेगा।” कल्लू की बात सुनकर शेर भयभीत हो गया और वहां से भागी। और बेचारा सियार जंगल भर घिसेत्ता रहा, जंगल बरगी  रहा। कल्लू की समझदारी से उसकी जान बच गई।

Moral : मुश्किल घड़ी में समझदारी से कम करनी चाहिए।

I think you like our above Panchatantra story in Hindi Clever Bull. Like to see the next short Hindi kids story. For daily updates like us on Facebook.