10+ Beautiful Short Poem about love for him (2020)

Hi, In this blog I will share with you the best evergreen Short Poem about love for him, you will love. We have a lot of stories, love, and sad poetry in Hindi.

Related:- short love poetry for her, that will impress your lover.

I think you know why we best? in future if you are looking for short love and short poetry please remember us. We have lot of free story Collection with PDF file and images. Ok let’s see…

Best Short Poem about love for him with images

Short Poem-about-love-for-him
वह मुझे मुझसे ज्यादा प्यार करता है,
तभी तो हमारे लड़ाई होने पे
वह हमारे रिश्ते को बचाने की कोशिश हरबार करते हैं।
वह मुझे मुझसे ज्यादा प्यार करता है।

जब मैं गुस्से में बोल जाता हूं, वह प्यार से बात करता है
और मेरे शांत होने का इंतजार करते हैं,
क्योंकि वह मुझे मुझसे ज्यादा प्यार करता है।

मेरे ख्वाहिशों को अपने ख्वाबों के साथ जोड़ के
हमारे सपनों के लहर बनाते हैं,
और मेरे सारी ख्वाहिशें पूरी कर देगा,
यह वादा करते हैं।

वह मुझे काम मिलता है लेकिन बहुत प्यार जताता है,
वह मुझे कितना प्यार करता है,
वह हर रोज मुझे बताता है।

अपनी मजबूरियों का वह जिक्र नहीं करता,
शायद कहीं ना कहीं, वह मेरी फिक्र भी करता।

खुद परेशान होता है, और मुझे हंस के दिखाता है
मैं सब समझ जाती हूं,
जब वोह रात को थक के बात करते करते सो जाता हैं।
वह मुझे मुझसे ज्यादा प्यार करता है।

I ❤️ You
खाली बक्से में पड़ी पुरानी कोई याद हो तुम
लिफाफे में बंद पढ़े दिल के जज्बात हो तुम।

बीच सितारों के जो चमके, वह एक चांद हो तुम।
गुजर के भी जो ना गुजरे, ऐसे लम्हा हो तुम।

खुली आंखों से देखा, अधूरा एक ख्वाब हो तुम।
जो मंगु मैं रब से, ऐसी एक मुराद हो तुम।

हर पल दिल को चाहने वाले, एक ख्वाहिश हो तुम।
तुम्हें पाने का जिंदगी भर करता रहूं वह कोशिश हो तुम

मेरी जिंदगी पूरी हो जाए वह चाहत हो तुम
मुझे सुकून मिले जिस चीज से वह राहत तुम।

I ❤️ You
Short Poem about love for him
आज तुम साथ हो तो लगता है सब कुछ मिल गया मुझे,
हर ग़म हर परेशानी, मानो छुट्टियों में गायब हो गई है।

क्योंकि वह तुम ही तो थे,
जिसने मेरी एक छोटी सी आदत से मान पड़ा।
हां क्योंकि वह बस तुम ही हो, जिसने मुझे समझा है।

सबसे पहले दोस्ती ही तो की ही हमने
कब कुछ अच्छा सा लगने लगा, पता नहीं चला।

छोटी-छोटी प्रॉब्लम शेयर करते करते
कब दिल पराया सा होने लगा, पता नहीं चला।

प्यार क्या होता है, तुमसे मिलने की बाद ही जाना है,
दिल लगाना क्या होता है, आज पहचाना है।

कभी-कभी तो सोच में पड़ जाती हूं,
कैसे कोई किसी को ऐसा प्यार कर सकता है,
बिना कुछ बोले ही लफ्जों को पर सकता है।

हर छोटी-छोटी चीजों को समझने वाला
यह लड़का ऐसे कैसे हो सकता है,
विश्वास से बांधने वाला यह रिश्ता,
कभी ना टूटने वाला लगता है,
हां अब यह लड़का,
दुनिया के सबसे अच्छा लड़का लगता है।

उम्मीदें तो बहुत तुम्हें भी होंगी, पूरी अब ओ सारी होंगी
यह छोटी मोटी तकरार तो बस बहाना है,
सच यह है के और करीब तुम्हारे आना है।

जुबां पर प्यार का इजहार शायद मेरे काम होगा,
मेरी धड़कनों को पढ़ ले,
उन पर सिर्फ तेरा ही नाम होगा।

तेरी हंसी, तेरा हर गम, अपना सा लगता है
तू जिस दिन ना देखे मुझे,
तो डर एक अजीब सा लगता है।
कभी दूर ना जाना मुझसे,
क्योंकि तेरे साथ की आप आदत सी हो गई है।

यह माथे की बिंदिया, यह सिंदूर, यह चूड़ियां
यह सब में तुम ही तो हो,
मेरे हर खुशी, मेरे सपने, मेरे आंखों के चमक
यह सब तुम ही तो हो।

मेरे ख्वाहिश, मेरे विश्वास, मेरे अभिमान
तुम ही तो हो।
अब मेरे जीने का वजह भी तुम ही हो,
क्योंकि मुझ में अब सिर्फ तुम ही तो हो।

पर तुम जब साथ नहीं होते हो ना,
तो मैं क्या, मेरी धड़कन ए भी बेचैन हो जाती है।
यह चलती सी दुनिया एकदम से थम जाती है।
लगता मानो आसमान में उड़ने वाली चिड़िया
एक पल में कैद हो जाती हो।

बॉस यही दुआ करती हूं,
के हर सुबह का सूरज तेरे संग देखूं।
जिंदगी का हर लम्हा, तेरे संग देखूं।
खुशियों में भरी हमारी जिंदगी हो,
और हमारे बीच में पढ़ता हुआ,
भरोसा और विश्वास देखूं।

सपने जो सजाए हमने वह पूरे होंगे,
अब जिंदगी के हर पल, खुशियों से भरे होंगे।
आदर और सम्मान मुझे जो तुमसे मिला है,
उसकी कीमत ना चुका पाऊंगी मैं,
हां लेकिन सात फेरों में किए थे जो वादे,
वह बार खूबी निभाऊंगी में।

आज तुम साथ हो तो लगता है,
जैसे सब कुछ मिल गया मुझे।

I ❤️ You
ना जाने कब वह रिश्ता बन गया,
कोई अनजाना ना जाने कब अपना बन गया।

हमें एहसास भी ना हुआ,
और कोई हमारा जिंदगी की जरूरत बन गया।

कभी-कभी ऐसा भी होता है,
प्यार का असर थोड़ा देर से होता है।

आपको लगता है हम कुछ नहीं सोचते आपके बारे में,
पर हमारी हर बात में आपका ही जिक्रे होता है।

तेरे आने के बाद जिंदगी कुछ बदल सी गई,
खुशियां बढ़ गई और आंखों में नमी काम सी हो गई।

तुझे एहसास भी नहीं, तू मेरे लिए क्या है,
पहले आदत, फिर जरूरत और अब जिंदगी बन गई।

आप दूर हो लेकिन दिल में यह एहसास होता है,
कोई खास है जो हर वक्त हमारे दिल के पास होता है।

वैसे तो हम करते हैं याद सबको,
लेकिन आपकी याद का एहसास, हमेशा खास होता है।

I ❤️ You
एक पागल सा लड़का, पागलों की तरह तुझ पे मरता है,
एक दावी उम्मीद से, रोजाना तेरा इंतजार करता है।

वैसे तो उसके दोस्त उसे कंजूस कह के बुलाते हैं,
पर तेरे लिए कुछ भी लाने को जरा भी नहीं झीझक्ता है।
एक पागल सा लड़का, पागल की तरहतुझ पर मरते हैं।

वह अपने नाम से पहले तेरा नाम लिखा करता है,
उसकी नजरों में तेरे चेहरे के अलावा,
और कुछ भी नहीं दिखता है।

ऐसे रोना तो उसे किसी बात पे आता नहीं,
पर तेरे आंसू जो देख ले तो ना जाने क्यों रोया करता है।
एक पागल सा लड़का,
पागलों की तरह तुझ पर मरता है।

तेरी तारीफें करने में वह जरा भी नहीं थकता है,
तेरा ही नाम लेके उठे, जब सुबह हो जाता है।

वैसे तो किसी भी बात से घबराता नहीं है वह,
पर तेरे बिछड़ने का डर, ना जाने उसे क्यों लगता है।
एक पागल सा लड़का पागलों की तरह तुझ पे मरता है।

अपने फिक्र नहीं है उसे बस वह तेरी परवाह करता है,
तुझसे मिलने के लिए, सबसे झूठ बोला करता है।

वैसे शौक नहीं है उसे डोंट सबसे खाने का,
पर तेरी चाहत में उसे यह भी अच्छा लगता है।
एक पागल सा लड़का,पागलों की तरह तुझ पे मरता है।

जिस रात तेरा ख्वाब ना दिखे,
उस रात का सोना उसे बेकार लगता है,
तू उसे अपना माने या नहीं,
पर वह तुझे अपना हमदम समझता है।

वैसे नींद नहीं आती उसे पर तेरी ख्वाब को छूने के लिए,
जबरदस्ती वह रात में सोया करता है,
एक पागल सा लड़का,
पागलों की तरह तुझ पर मरता है।

सुबह आकर अपनी खूबसूरती से तू
उसका दिन चमका करती थी,
अपनी चश्मा ना कभी हटाए,
उससे नजरें मिलाया करती थी।

गर्मी में जब सूरज की किरने,
 रोज-रोज जगाया करती थी।
तब बालों को अवनी खोलकर,
उसपे अपना साया करती थी।

I ❤️ You
Short Poem-about-love-for-him
कुछ खास तो है तुम मैं,
जो आज भी खयाल मेरे तुम से ही गुजरता है।
मैं थम जाऊं जो देखकर तुम्हें,
तो लम्हे मेरे तुम पर ही ठहरती है।

मैंने आज तक इंतजार किया है तुम्हारा,
और हमेशा तुम्हारा ही करता रहूंगा।
तुम मेरी हो, तो मैं तुम्हारा,
और ना भी हो तो, मैं तुम्हारा ही रहूंगा।

ऐसा नहीं कि कोई मुझे मिला नहीं,
पर यार तुझ जैसा कोई मिला नहीं।
तुम्हारे खयालो को छोड़ के,
मैं कब का आगे बढ़ सकता था,
पर तुम से आगे जाना मैं चाहता ही नहीं।

अच्छा लगता है वैसे तुम्हें याद करते रहना,
बात बात में बिना किसी बात के,
तुमसे शिकायतें करते रहना।

तुम चाहो या मुझे ना चाहो कोई बात नहीं
पर अच्छा लगता है तुमसे,
एक तरफा मोहब्बत करते रहना।

तुम पर कितना कुछ लिखा है मैंने,
और तुम्हें खबर ही नहीं है,
यह अल्फाज सुनकर कोई भी तुम्हारा दीवाना हो जाए,
और तुम पर इसका असर ही नहीं है।

ऐसा नहीं है कि तुम सबसे खास हो,
पर यार तुमसे खास और कोई नहीं।
तुम्हें याद करके खुश हूं मैं,
तो तुम्हें भुलाना चाहता ही नहीं।

वह ख्वाब भी जन्नत से कम नहीं होता,
जिस ख्वाब में तुम्हारा दीदार होता है।
एक पाल के लिए तो रोक भी लेता हूं मैं दिल को,
पर तुम्हें देखते ही फिर से सब आर पार होता है।

तो क्या हुआ जो तुम मुझसे बात नहीं करती,
सामने से गुजरने पर भी मुलाकात नहीं करती।
मेरा दिल जहां सब कुछ तुम्हारा है जाना,
तो क्या हुआ जो तुम मुझे याद नहीं करती।

तुम आज भी जो सामने से गुजरती होना,
वही पुराना सा एहसास होता है।
इन शब्दों में नहीं बता पाऊंगा मैं कभी,
क्या यार वह लम्हा मेरे लिए कितना खास होता है।

मेरा प्यार हां या ना का मोहताज नहीं है,
जो मना करते ही तुम्हारे खत्म हो जाएगा।
यह तो बस हो गया है ना तुमसे एक बार,
तो बस वक्त के साथ-साथ बढ़ता ही जाएगा।

ऐसा नहीं कि मुझे कोई मिला नहीं,
पर यार तुझ जैसा कोई मिला नहीं।

I ❤️ You
जहां से शुरू हुई थी हमारी कहानी,
वहीं से आज फिर शुरुआत करते हैं।
चल अब फिर से प्यार करते हैं।

देखने एक दूसरे को फिर इंतजार करते हैं,
दिख जाए जैसे ही छुप छुप के हम एक दूसरे का,
दीदार करते हैं।
चल अब फिर से प्यार करते हैं।

बिना लिए तेरी इजाजत,
फिर से करूं मैं तुझसे शरारत।
कुछ ऐसी ही मोहब्बत, फिर एक बार करते हैं,
चल अब फिर से प्यार करते हैं।

यूं सारा दिन फोन पे बातें करना,
और किसी के आ जाने पर,
एक दूसरे की खामोशियों को समझ जाना,
फिर से एक दूसरे की अनकही बातों को सुनते हैं,
चल अब फिर से प्यार करते हैं।

यूं बिना मतलब एक दूजे से लड़ता,
और चलते चलते अचानक से हाथ पकड़ना,
पहले की तरह फिर से एक दूसरे को खोने से डरते हैं,
चल अब फिर से प्यार करते हैं।

छोटी-छोटी बातों पर जोर-जोर से हम
एक और बार हंसते हैं,
मेरी बाहों में आ जाए तुझे नींद इसका इंतजार
एक और बार करते हैं।
चल अब फर्स प्यार करते हैं।

जैसे मरते थे मरते थे एक दूजे पे पहले,
फिर एक बार वैसे ही मरते हैं,
चाल अब फिर से प्यार करते हैं।

यह जो हो गए हैं हम, एक दूसरे से इतना दूर,
क्यों ना इन दूरियों को खत्म कर एक बार फिर से
प्यार का इजहार करते हैं, एक नई शुरुआत करते हैं
चल अब फिर से प्यार करते हैं।

I ❤️ You
Short Poem about love for him
पहले जब मैंने कहा था मुझे नहीं करना किसी से प्यार
किया था मैंने दिल को लाखों इनकार।

कहा था मैंने नहीं करना मुझे रातों को किसी का इंतजार
पार तब मेरे ही दिल ने मेरे एक ना सुनी।

दिल ने खुद जिद करके मुझे किया ऐसा मजबूर
और दिमाग को भी समझा दिया,
की उससे मेरा प्यार करना बेहद जरूर।

मैं हार गया और मान ली मैंने दिल की बात
पता नहीं उस दिन मेरा दिल जीता था,
या जीता था मेरा प्यार।

अब मुझे भी प्यार हो गया है काफी,
नहीं मानी थी मैंने दिल की बात, मांग भी ली मैंने माफी।

अब मैं बिल्कुल तैयार, दिल नहीं चाहेगा तो भी
रोज करूंगा उससे प्यार।
अब कई दिनों बाद जब वह बदलने लगा है,
मेरा दिल फिर से मुझसे कुछ कहने लगा है।
दिल कह रहा है,
अब नहीं रहा उसको तुमसे प्यार।

और आज एक और बार,
मैं नहीं हूं इस दिल की बात मानने को तैयार।

अब कर लिया है मैंने तय,आगे क्या करना है मुझे,
जो होना है हो जाए, दिल नहीं लगाना किसी से।

I ❤️ You
मैं जब भी उदास होता हूं,
तेरी तस्वीरों में खोता हूं।
तेरी वह प्यारी सी स्माइल देख कर,
मैं हर रोज सोने जाता हूं।

तुम हर वक्त मेरे पास नहीं रहती,
मगर तुम्हारी तस्वीर रहती है।
तुम तो दूर रहती हो,
मगर तुम्हारी तस्वीर हमेशा मेरे फोन में सेव रहती है।

वह सिर्फ तस्वीर ही नहीं है,
उन्हीं में तुम्हारी मुस्कान रहती है
वह सिर्फ तस्वीर नहीं है,
ऊनी में हमारा बीता हुआ वक्त रहती है।

जब भी उदास होता हूं, उन्हें देख लेता हूं।
जब भी तुम्हारा याद सताती है, उन्हीं में खो जाता हूं।

देखता हूं तुम्हारा पागलपन उनमें,
देखता हूं उन आंखों में मेरे लिए प्यार।
और अगर एक बार उन होंटो को देख लिया,
तो मैं खो जाता हूं बेकरार।

मैं उन तस्वीरों में तुम्हारा आंखों को देखता हूं,
देखता हूं कैसे तुम सारे गमों को छुपाकर हंसते हो।
देखता हूं वह आंखों कि पागलपन,
जो तुम मुझे परेशान करने के लिए इस्तेमाल करते हो।

तुम सामने जितनी प्यारी,
उतनी उन तस्वीरों में नहीं लगते हो।
तुम सामने जितनी खूबसूरत,
उतनी उन तस्वीरों में नहीं दिखती हो।

मगर कोई चारा नहीं है, तुमसे मिलने का
जब भी तुम्हारा याद सताए,
उसी वक्त तुम्हारी आंखों में खोने का।

तो इन तस्वीरों में ही, तुम्हें ढूंढना पड़ता है,
इन तस्वीरों से ही, दिल को सुकून दिलाना पड़ता है।

दिल तो करता है तुमसे मिलने की,
तुम्हारे पास बैठकर, तुमसे बातें करने की,
तुम्हारी आंखों में खो के, तुम्हारी जुल्फों में उलझने की।

मैं तुमने खो जाऊं, तुम मुझ में खो जाओ
वक्त उसी पल रुक कर के,
तुम थोड़ी देर और ठहर जाओ।

कब आएगा यह दिन, इसी सोच में रहता हूं।
तुमसे कब अच्छे से बात होगा,
उसी का इंतजार करता हूं।

तुम तो बात नहीं करोगे मुझसे, मुझसे दूर जाती रहोगी
मगर एक बात तो है, तुम दूर जाके रह नहीं पाओगी।

इंतजार है उस दिन का जब हम साथ रहेंगे,
हाथों में हाथ रख कर एक लंबी सफर तेर करेंगे।

I ❤️ You
Short Poem-about-love-for-him
मेरी ख्वाहिशों का लिस्ट बहुत लंबी
अरे तुम घबरा के अपना जेब मत टटोलो।
कितना प्यार है मुझ पर खर्च करने के लिए
अपने दिल से पूछ कर बोलो।

तुम भले ही मुझे दुनिया की सैर मत कराना,
मगर जब मैं कहूं मेरे साथ छत पर चांद देखने आना।

मेरा हाथ पकड़ लेना, मेरा बालों को सैलाना
दो किस्से मेरे सुनना, और दो मुझे अपने सुनाना।

मैं बहुत ज्यादा बोलती हूं, 
मैं एकदम से खामोश हो जाती हूं, तुम सुन लेना।
फूलों के जैसे खिल जाती हूं कभी,
कभी सूखे पत्तों से बिखर जाती हैं, तुम क्यों नहीं लेना।

मैं थोड़ी अलग सी हूं, मुझे हीरे मोती नहीं लुभाते
हां मगर गजरे गुलाब और गुब्बारे बहुत पसंद आते।

लेकिन जब मुझे कुछ भी ना रिझा पाय,
तुम मेरी मनपसंद चीज लाना, तुम खुद चले आना।

मुझे आजकल के प्यार का आता सलीका नहीं
दड़सल मैंने कभी प्यार को तोड़ना शिखा नहीं।

मुझे तो तुम पसंद इसलिए ही आए थे,
इन दिखाओगे आडंबर से दूर तुम कहीं अपनी,
एक सादगी दुनिया मुझे दिखाए थे।

एक सादा सा जीवन और तुम्हारे संस्कार
शायद मिले होंगे तुम्हें अपने पिता से।
पर तुम्हारे हाथ में वह कलम,
और तुम्हारे होठों पर वह मुस्कान,
जिसने चुराया है कहींओ का दिल।

तुम्हारी वह हर बात याद है,
तुम्हारी हार छोटी-छोटी ख्वाहिशें याद है।
तुम्हारे साथ बिताया वह हरपाल है।

सुनो तुम प्यार से रखना,
प्यार से रखना मुझे और प्यार करना मुझे।
मेरे ख्वाहिशें साथ में मिलकर
उनको जीना और उनको पूरा करना।

I ❤️ You.

Thank You!

I hope You enjoy our Short Poem about love for him collection. if you like any of these please share and comment below which one you like the most? I think you may like to see some romantic Hindi Gulzar poetry on love.

For daily updates you can join our Facebook page.