Innocent reindeer || small Panchatantra Hindi Stories (2020)

Do you want a great and short story for kids? In this article, I will share a small Panchatantra Hindi Story name Innocent reindeer.

Related:- A Great Collection of Pancha Tantra Stories.

Innocent reindeer (मासूम हिरन)

किसी जंगल में एक हिरण और एक कौवा बहुत अच्छे दोस्त थे। एक दिन हिरण सो कर उठा और कौवे को उठाने गया। उसने बोला, “कौवा भाई आप अभी तक सो रहे हो? चलो चलो जल्दी से उठो।” कव्वे ने कहा, “अरे मुझे सोने दो, तुम अकेले ही घूमने जाओ।” हिरण अकेले ही घास खाने चला जाता है। और मजे से घास खाता रहता है।।

Innocent reindeer, small panchatantra stories in hindi

उसी मैदान में एक लोमड़ी हिरण को देख रहा होता है। वह हिरण को देखकर सोचा “अरे यह हिरन तो बहुत स्वादिष्ट लग रहा है, पर मैं इसे खाऊं कैसे? इसके लिए शायद इस से दोस्ती करनी पड़ेगी।” चालाक लोमड़ी दिमाग मैं हिरण को खाने की बात सोचते हुए हिरण की पास जाती है। लोमरी को देखकर हिरण चौक जाता है। 

लोमरी बोलती है, “हिरण तुम क्या मुझसे दोस्ती करोगे?” हिरण बोलती है, “हां कौन हो तुम?” तब लोमरी बोलती है, “मैं एक लोमड़ी हूं, इस जंगल में मेरा कोई दोस्त नहीं है, ना कोई रिश्तेदार है, मैं बिल्कुल अकेली हूं। क्या तुम मेरे दोस्त बनोगे। मैं बिल्कुल अनाथ महसूस करती हूं।” हिरण यह सब देख कर कहा, “अच्छा ठीक है, तुम रो मत आज से हम दोस्त। चलो मैं अपनी बेस्ट फ्रेंड से तुम्हें मिलाता हूं।”

भोला भाला हिरण चालाक लोमड़ी के इरादों से अंजान उसे अपनी दोस्त कव्वे से मिलाने जाती है। वह कव्वे को बुलाती है, “देखो कव्वे यहां पर कौन आई है।” कौवा ने लोमड़ी को देख कर कहा, “यह कौन है?” हिरण ने उसे बोला यह लोमेरी है, मुझे मैदान के पास मिली। यह वहां अकेली थी और मुझसे दोस्ती करना चाहती थी।” 

Innocent reindeer, small panchatantra stories in hindi

कव्वे ने कहा, “बाह तुमने अजनबी से दोस्ती कर ली?” लोमड़ी ने कहा, “नहीं नहीं कब्बे भाई, मैं सच में अकेली हूं। आप दोनों की दोस्ती देखकर मैं आप दोनों के साथ रहना चाहता हूं।” हिरण ने बोला, “कौवा भाई मैंने इससे बात कर ले। हम इस पर भरोसा कर सकते हैं।” काब्बे ने यह सुनकर बोला, “अगर तुम्हें ठीक लगता है तो मैं भी मान लेती हूं। फिर भी तुम संभल कर रहना।”

एक दिन लोमड़ी चालाकी से हिरण को घास का लालच देकर की एक खेत में ले जाती है। लोमड़ी कहती है, “हिरण मेरे दोस्त चलो आज तुम्हें यह अपने जगह पर घास खाने लेकर चलती हूं।” हिरण ने बोला हां चलो। वह दोनों वहां पर गए और हिरन बहुत सारे घास देखकर कहने लगे, “अरे वाह यहां तो बहुत सारे फसल है।” लोमड़ी ने हिरण से कहा, “हां आज तो जम कर खाओ। आज तो दावत है तुम्हारी। और मेरी भी दावत है।”

उस समय वह फसल का मालिक आ गई और वह कहने लगी, “अरे यह फसल किस ने खाई जरूर कोई जानवर है। वह गुस्सा हो गई और बोली आज तो मैं उसे पकड़ कर ही रहूंगा। एक काम करता हूं उसे पकड़ने के लिए एक जाल बिछाता हूं।” इसके बाद वह किसान ने फसल में जाल बिछा दिया। फिर एक दिन जब हिरन वहां पर आई वह सोची कि आज भी मैं बहुत खाऊंगा। वह फसल में जाते ही जाल में उसका पैर फंस गया और वह कहने लगा अरे यह क्या है मैं तो फस गया।

इसके बाद वो चिल्लाने लगी मुझे बचाओ, मुझे बचाओ। यह सब देख कर लो मोरी तुरंत उस जगह से भाग जाती है। पर कौवा उसकी आवाज सुनकर वहां पर चली आती है। कौवा हिरण को देख कर बोला, “हिरन क्या हुआ तुम्हें? हिरण रोते रोते कहा लोमरी कि कहने पर मैं यहां पर घास खाने आई हूं। पर जब फस गया तो वह मुझे छोड़ कर भाग गई।”

Innocent reindeer, small panchatantra stories in hindi

कव्वे ने कहा, बातें बाद में करेंगे पहले जाल से निकलते हैं। कव्वे ने देखा जाल बहुत मोटा है उसकी चोच से नहीं कटेगी। वह कहा तुम्हें खेत के मालिक आने का इंतजार करना पड़ेगा। वह आकर जैसे ही तुम्हें जाल से निकालेगा, तुम तुरंत वहां से भाग जाना। हिरण ने कहा हां हां। फिर वह दोनों देखा कि खेत के मालिक आ रहा है।

कुछ देर में खेत का मालिक आता है, और कहता है, “वह तुम हो, जो मेरी फसल रोज खाकर जाते हो? और फसलों को खराब करते हो? अब कैसे बच जाओगे निकल कर? मैं अभी तुम्हें मजा चखाया हूं।” खेत के मालिक जब जाल से हिरण को निकाला, तब ही हिरण वहां से भागा। खेत के मालिक चिल्लाने लगा अरे अरे रुको रुको तुम रुको।

उसके बाद कौवा और हिरण वहां से बहुत तेज भागा। इस तरह कव्वे ने अपने दोस्त हिरण की जान बचाई थी और यह भी सिखाया कि किसी भी अजनबी पर आंख बंद करके विश्वास नहीं करनी चाहिए। वरना तुम जिंदगी से हाथ धो बैठोगे।

I think you like our above small Panchatantra Hindi Story name Innocent reindeer. Like to see the next Short Hindi kids story. For daily updates like us on Facebook.